एपीवाई – अटल पेंशन योजना/APY

असंगठित क्षेत्र में काम करने वाले लोगों की मदद करने के उद्देश्य से 2015-16 की बजट में भारत सरकार द्वारा अटल पेंशन योजना (APY) की घोषणा की गई थी।

  • इसमें इन्वेस्ट करने पर हर महीने 5,000 रुपये पेंशन मिलता है।
  • इसमें टैक्स बेनिफिट भी मिलता है।
  • इस योजना में भारत सरकार भी योगदान करती है।
  • यह एक रिस्क-फ्री योजना है।

इस योजना को असंगठित क्षेत्र में काम करने वाले गरीब लोगों को रिटायरमेंट के बाद रेगुलर इनकम पाने में मदद करने के लिए शुरू किया गया था। इस योजना से उन्हें अपने रिटायरमेंट के लिए बचत करने का प्रोत्साहन मिलता है। इस योजना का सम्पूर्ण संचालन कार्य, पेंशन फंड रेगुलेटरी ऐंड डेवलपमेंट ऑथोरिटी (पीएफआरडीए) द्वारा संभाला जाता है। एपीवाई योजना, रिटायरमेंट के लिए बचत करने के लिए एक स्वैच्छिक योजना है।

अटल पेंशन योजना के लिए आवेदन करने की प्रक्रिया

इस योजना का लाभ उठाने के लिए निम्नलिखित स्टेप्स फोलो करने होंगे:

  • सभी नेशनलाइज्ड बैंक, एपीवाई योजना प्रदान करते हैं। इन बैंकों में जाकर एक एपीवाई अकाउंट खोला जा सकता है।
  • अकाउंट ओपनिंग फॉर्म, बैंक की वेबसाइटों पर ऑनलाइन भी उपलब्ध है। आवेदन फॉर्म डाउनलोड किया जा सकता है।
  • आवेदन फॉर्म, अंग्रेज़ी, तेलुगु, तमिल, उड़िया, मराठी, कन्नड़, गुजराती, और बंगला में उपलब्ध है।
  • आवेदन फॉर्म को भरकर बैंक में सबमिट करना जरूरी होता है।
  • एक मान्य मोबाइल नंबर देना होता है।
  • आधार कार्ड की फोटोकॉपी सबमिट करनी पड़ती है।

आवेदन मंजूर होने पर, एक कन्फर्मेशन मैसेज मिलता है।

अटल पेंशन योजना फॉर्म को भरने का तरीका क्या है

अटल पेंशन योजना का फॉर्म हासिल करने के बाद उसे भरना बहुत आसान है।

स्टेप 1: फॉर्म को संबोधित करना

यह फॉर्म, ब्रांच मैनेजर को संबोधित करके भरना होता है। आप बैंक को कॉल करके या वहां जाकर अपने ब्रांच मैनेजर का नाम मालूम कर सकते हैं। अपने बैंक का नाम और ब्रांच का नाम दर्ज करें।

स्टेप 2: बैंक का विवरण

फॉर्म को बड़े अक्षरों में भरें। सबसे पहले, आपको अपने बैंक का विवरण देना होता है। अपना बैंक अकाउंट नंबर, बैंक का नाम और ब्रांच का नाम दर्ज करें। इस फील्ड को भरना जरूरी है।

स्टेप 3: व्यक्तिगत विवरण

  • आप पर “श्री”, “श्रीमती” या “कुमारी” में से जो लागू होता है उसके सामने मौजूद बॉक्स पर निशान लगाएं। यदि आप एक पुरुष आवेदक हैं तो “श्री” पर निशान लगाएं। यदि आप शादीशुदा महिला आवेदक हैं तो “श्रीमती” पर निशान लगाएं। यदि आप कुँवारी महिला आवेदक हैं तो “कुमारी” पर निशान लगाएं।
  • शादीशुदा आवेदकों को अपने जीवनसाथी का नाम दर्ज करना होगा।
  • अपना पूरा नाम, जन्म की तारीख, और उम्र दर्ज करें।
  • अपना मोबाइल नंबर, ईमेल एड्रेस और आधार नंबर दर्ज करें।
  • उसके बाद आप अपने नॉमिनी का नाम और उसके साथ अपना रिश्ता दर्ज कर सकते हैं। आपकी मौत होने पर आपका पैसा आपकी नॉमिनी को मिलेगा।
  • यदि नॉमिनी, नाबालिग है तो आपको उसके जन्म की तारीख और अभिभावक का नाम दर्ज करना होगा।
  • आपको यह भी बताना होगा कि क्या नॉमिनी के पास कोई अन्य वैधानिक सामाजिक सुरक्षा योजना है और क्या वह एक इनकम टैक्सपेयर है।

स्टेप 4: पेंशन सम्बन्धी विवरण

आप अपने पेंशन के लिए इस अकाउंट में 1,000 रुपये, 2,000 रुपये, 3,000 रुपये, 4,000 रुपये, या 5,000 रुपये करके 1,000 रुपये से 5,000 रुपये तक इन्वेस्ट कर सकते हैं। “कॉन्ट्रिब्यूशन अमाउंट (मंथली)” नामक बॉक्स को खाली छोड़ देना होता है क्योंकि उसे, पेंशन पाने के लिए हर महीने आपके द्वारा इन्वेस्ट किए जाने वाले अमाउंट का कैलकुलेशन करने के बाद, बैंक द्वारा भरा जाता है।

यह कैलकुलेशन, इसमें प्रवेश करने के समय आपकी उम्र के आधार पर किया जाएगा। उदाहरण के लिए, 2,000 रुपये का पेंशन पाने के लिए आपको हर महीने 151 रुपये इन्वेस्ट करने होंगे यदि इसमें प्रवेश करते समय आपकी उम्र 25 साल है।

स्टेप 5: डिक्लेयरेशन और ऑथराइजेशन

आपको तारीख और जगह का नाम दर्ज करना होगा। आप या तो दस्तावेज पर हस्ताक्षर कर सकते/सकती हैं या अंगूठे की छाप दे सकते/सकती हैं। दस्तावेज पर हस्ताक्षर करके, आप यह खुलासा करते/करती हैं कि आप अटल पेंशन योजना के योग्यता सम्बन्धी मानदंडों को पूरा करते/करती हैं और आपने इस योजना के नियमों एवं शर्तों को पढ़ और समझ लिया है। आप यह भी खुलासा करते/करती हैं कि आपने जो जानकारी दर्ज की है वह आपकी जानकारी के मुताबिक़ सही है। यदि दर्ज की गई जानकारी में कोई बदलाव करना हो तो आपको तुरंत बैंक से संपर्क करना होगा। आप यह भी खुलासा करते/करती हैं कि एनपीएस में आपका कोई अकाउंट नहीं है। जानबूझकर दी गई झूठी या गलत जानकारी के लिए आपको जवाबदेह ठहराया जाएगा।

स्टेप 6: इसे बैंक द्वारा भरा जाएगा

अटल पेंशन योजना फॉर्म का अंतिम हिस्सा यानी “एकनॉलेजमेंट – अटल पेंशन योजना (APY) के लिए सब्सक्राइबर रजिस्ट्रेशन”, बैंक द्वारा भरा जाना होता है। आपको इस बॉक्स को खाली छोड़ देना चाहिए। यह बैंक की तरफ से मिलने वाला एक एकनॉलेजमेंट है कि वे आपके लिए अटल पेंशन योजना स्कीम को सब्सक्राइब करेंगे। आपके द्वारा फॉर्म सबमिट किए जाने के बाद, इसे बैंक एजेंट द्वारा भरा जाएगा।

अटल पेंशन योजना के योग्यता सम्बन्धी मानदंड

अटल पेंशन योजना के योग्यता सम्बन्धी मानदंड निम्नलिखित हैं:

  • इसमें इन्वेस्ट करने के लिए भारत का नागरिक होना जरूरी है।
  • उम्र 18 से 40 साल के बीच होनी चाहिए।
  • एक एक्टिव मोबाइल नंबर होना चाहिए।
  • आधार नंबर से जुड़ा एक मान्य बैंक अकाउंट नंबर होना चाहिए।
  • ‘अपने ग्राहक को जानें’ से जुड़े सारे विवरण देने होंगे।
  • अकाउंट होल्डर के पास पहले से कोई एपीवाई अकाउंट मौजूद नहीं रहना चाहिए।

अटल पेंशन योजना की विशेषताएं और लाभ

एपीवाई योजना की मुख्य विशेषताएं निम्नलिखित हैं:

  • भारत की सरकार, व्यक्ति को उसके रिटायरमेंट के बाद दिए जाने वाले मिनिमम पेंशन की गारंटी देती है।
  • इस योजना में किए गए इन्वेस्टमेंट पर, सेक्शन 80CCD के तहत, अटल पेंशन योजना टैक्स बेनिफिट मिलता है।
  • सभी बैंक अकाउंट होल्डर्स इस योजना में शामिल हो सकते हैं।
  • इसमें इन्वेस्ट करने वाले लोगों को 60 साल का होने के बाद पेंशन मिलना शुरू हो जाता है।
  • प्राइवेट सेक्टर में काम करने वाले जिन कर्मचारियों को कोई पेंशन बेनिफिट नहीं मिलता है उन्हें भी इस योजना के लिए आवेदन करने की इजाजत है।
  • 60 साल का होने के बाद 1,000 रुपये, 2,000 रुपये, 3,000 रुपये, 4,000 रुपये, या 5,000 रुपये का एक फिक्स्ड पेंशन पाने का विकल्प मिलता है।
  • इस योजना के दौरान अकाउंट होल्डर की मौत होने के बाद, उसका पति/पत्नी या तो जमा पैसे को निकाल सकता/सकती है या इस योजना की समय अवधि को पूरा कर सकता/सकती है।

अटल पेंशन योजना के बारे में अक्सर पूछे जाने वाले सवाल

  1. क्या इस योजना के लिए रजिस्ट्रेशन कराते समय आधार नंबर सबमिट करना जरूरी है ? इसे सब्सक्राइब करते समय आधार नंबर देना जरूरी नहीं है लेकिन लाभार्थियों, नॉमिनी और सब्सक्राइबर के पति/पत्नी की पहचान करने के लिए बैंकों द्वारा मुख्य केवाईसी दस्तावेज के रूप में आधार कार्ड का ही इस्तेमाल किया जाता है।
  2. क्या मैं एक सेविंग्स अकाउंट के बिना भी एक अटल पेंशन योजना अकाउंट खोल सकता / सकती हूँ ? नहीं, इस योजना के लिए आवेदन करते समय आवेदकों के पास एक सेविंग्स बैंक अकाउंट होना जरूरी है।
  3. मंथली कॉन्ट्रिब्यूशन या इन्वेस्टमेंट की नियत तारीख कैसे तय की जाती है ? नियत तारीख, पहली इन्वेस्टमेंट तारीख के आधार पर तय की जाती है।
  4. क्या अटल पेंशन योजना में शामिल होते समय सब्सक्राइबरों को एक नॉमिनी रखना जरूरी है ? हाँ, नॉमिनी रखना जरूरी है। अटल पेंशन योजना के लिए आवेदन करते समय अपने पति/पत्नी का विवरण देने के साथ-साथ नॉमिनी का विवरण भी देना पड़ता है। पति/पत्नी और नॉमिनी का आधार सम्बन्धी विवरण भी देना पड़ता है।
  5. एक सब्सक्राइबर कितने अटल पेंशन योजना अकाउंट खोल सकता है ? एक सब्सक्राइबर को सिर्फ एक अटल पेंशन योजना अकाउंट खोलने की इजाजत है जो उनके लिए अनोखा रहेगा।
  6. क्या मैं एक आधार नंबर के बिना अटल पेंशन योजना से जुड़ सकता / सकती हूँ ? अटल पेंशन योजना अकाउंट खोलते समय आधार नंबर की जरूरत नहीं पड़ती है लेकिन लाभार्थियों, पति/पत्नी का नाम दर्ज कराने के लिए और नॉमिनी की पहचान करते समय आधार सम्बन्धी विवरणों की जरूरत पड़ेगी।

Leave a comment

Your email address will not be published.

error: Content is protected !!