उज्ज्वला योजना

फ्री रसोई गैस सिलिंडर के लिए उठाएं इस सरकारी योजना का लाभ, फायदे में रहेंगे आप

उज्ज्वला योजना 1.0 2016 में शुरू की गई थी। अब देश में उज्ज्वला योजना के दूसरे चरण की भी शुरुआत हो गई है। आइए जानते हैं आपको इससे कैसे फायदा होगा और इसके लिए आवेदन कैसे कर सकते हैं।

विस्तार


हाल ही में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने उत्तर प्रदेश में एलपीजी कनेक्शन सौंपकर उज्ज्वला योजना के दूसरे चरण (Ujjwala Yojana 2.0) का शुभारंभ किया था। कार्यक्रम के दौरान प्रधानमंत्री ने उज्ज्वला योजना के लाभार्थियों से बातचीत भी की थी। ये सरकारी योजना आपके लिए काफी लाभदायक साबित हो सकती है। आइए जानते हैं इसके बारे में सबकुछ-

क्या है प्रधानमंत्री उज्ज्वला योजना?
प्रधानमंत्री उज्ज्वला योजना के तहत सरकार गरीबी रेखा के नीचे रहने वाले लाभार्थियों को एलपीजी का कनेक्शन बांटती है। इस योजना का लाभ केवल महिलाएं उठा सकती हैं। आवेदक महिला की उम्र कम से कम 18 साल होनी चाहिए। साथ ही एक ही घर में इस योजना के तहत कोई अन्य एलपीजी कनेक्शन नहीं होना चाहिए।

उज्ज्वला 1.0 से उज्ज्वला 2.0 तक की यात्रा


वर्ष 2016 में शुरू किए गए उज्ज्वला योजना 1.0 के दौरान, गरीबी रेखा से नीचे जीवन बिताने वाले परिवारों की पांच करोड़ महिला सदस्यों को एलपीजी कनेक्शन उपलब्ध कराने का लक्ष्य रखा गया था। इसके बाद, अप्रैल 2018 में इस योजना का विस्तार कर इसमें सात और श्रेणियों (अनुसूचित जाति / अनुसूचित जनजाति, पीएमएवाई, एएवाई, अत्यंत पिछड़ा वर्ग, चाय बागान, वनवासी, द्वीप समूह) की महिला लाभार्थियों को शामिल किया गया। साथ ही, इसके लक्ष्य को संशोधित कर आठ करोड़ एलपीजी कनेक्शन कर दिया गया। इस लक्ष्य को निर्धारित तिथि से सात महीने पहले अगस्त 2019 में ही हासिल कर लिया गया था।

वित्तीय वर्ष 2021-22 के केंद्रीय बजट में पीएमयूवाई योजना के तहत एक करोड़ अतिरिक्त एलपीजी कनेक्शन के प्रावधान की घोषणा की गई थी। इन एक करोड़ अतिरिक्त पीएमयूवाई कनेक्शन (उज्ज्वला 2.0 के तहत) का उद्देश्य कम आय वाले उन परिवारों को जमा-मुक्त एलपीजी कनेक्शन प्रदान करना है, जिन्हें पीएमयूवाई के पहले चरण के तहत शामिल नहीं किया जा सका था।

उज्ज्वला 2.0 से क्या होगा फायदा?

उज्ज्वला 2.0 के तहत लाभार्थियों को जमा मुक्त एलपीजी कनेक्शन के साथ-साथ पहला रिफिल और हॉटप्लेट निःशुल्क प्रदान किया जाएगा। 
साथ ही, इसमें नामांकन की प्रक्रिया के लिए न्यूनतम कागजी कार्रवाई की जरूरत होगी। उज्ज्वला 2.0 में प्रवासियों को राशन कार्ड या निवास प्रमाण पत्र जमा करने की जरूरत नहीं होगी।
'पारिवारिक घोषणा' और 'निवास  प्रमाण', दोनों, के लिए स्वयं द्वारा एक घोषणा पर्याप्त है। 
उज्ज्वला 2.0 एलपीजी तक सभी की पहुंच के प्रधानमंत्री के दृष्टिकोण को साकार करने में मदद करेगी।

कैसे करें उज्ज्वला योजना 2.0 के लिए आवेदन?

यदि आप भी उज्ज्वला योजना 2.0 के लिए आवेदन करना चाहते हैं तो उसके लिए नीचे दिए गए लिंक पर क्लिक करें-

https://www.pmuy.gov.in/

यहां ऑनलाइन आवेदन का विकल्प चुनें। 
अब ये सेलेक्ट करें कि आप किस कंपनी का गैस कनेक्शन लेना चाहते हैं। 
उसके बाद आपसे कुछ जानकारियां मांगी जाएंगी, जिन्हें भरकर सबमिट करना होगा। 
आप चाहे तो यहां से फॉर्म डाउनलोड कर के उसे भरकर नजदीकी गैस एजेंसी डीलर के पास भी जमा करा सकते हैं।

Leave a comment

Your email address will not be published.

error: Content is protected !!